Natural Amethyst Bracelet ( Certified )

2,400.00

जामुनिया रत्न के लाभ/Amethyst Gemstone Benefits

  • जमुनिया रत्न के लाभ (Amethyst Gemstone Benefits): भारतीय ज्‍योतिष विज्ञान के अनुसार जामुनिया रत्न (Amethyst Gemstone Benefits) शनि ग्रह से संबंध रखता है। नीलम रत्‍न के उपरत्‍न में जामुनिया रत्न का उपयोग किया जाता है। नीलम रत्न की तरह ही यह कुंभ (एक्‍वेरियन) और मकर (कैपरिकॉन) राशि का रत्‍न है। इसलिए जामुनिया (Amethyst Gemstone Benefits) को धारण करने से शनि के दोषों और गलत प्रभावों से छुटकारा मिलता है और पहनने वाले को धन, सम्‍मान और अच्‍छी सेहत मिलती है। यह रत्न मेष, कर्क, सिंह, वृश्चिक राशि से भी संबंधित होता है।
  • जामुनिया से लाभ (Amethyst Gemstone Benefits): जामुनिया  शनि का रत्‍न है जोकि ‘न्‍याय’ और ‘मानवता’ का ग्रह है। अत: इस रत्‍न को पहनने से धन, सम्‍मान और मानसिक शांति मिलती है। शनि ढैय्या, शनि साढ़ेसाती और शनि महादशा के समय में इसके गलत प्रभावों से बचने के लिए नीलम के स्‍थान पर जामुनिया धारण किया जा सकता है।जामुनिया धारण करने से कार्य क्षेत्र में भी प्रगति होती है क्‍योंकि यह निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाता है जिससे प्राप्‍त अवसरों का ज्‍यादा लाभ उठाया जा सकता है। यह जमुनिया रत्‍न मनुष्य को मेहनती बनाता है और ऐसा देखा गया है कि इसके धारण करने से व्‍यक्‍ति काम के प्रति ज्‍यादा डेडिकेटेड हो जाता है और अपनी नैतिक जिम्‍मेदारी को समझता है। इस रत्न के धारण करने से शनि ग्रह की पीड़ा जैसे घुटना, रीढ़ की हड्डी और कन्‍धे का दर्द आदि दूर हो जाते हैं।
  • रत्न पहचान (Amethyst Gemstone Benefits):जामुनिया रत्न (Amethyst Gemstone Benefits) देखने में नीला चिकना और चमकीला होता है। इसमें से नीले रंग की कई तरंगे निकलती है जो देखने में नीलम रत्न की तरह लगती है। यह रत्न वजन अनुसार औसत में हल्का होता है। यह रत्न मजबूत कहा जा सकता है, इस रत्न की कई तरह की कटिंग होती है, जो देखने में बहुत सुंदर लगती है। जिसे अधिकांश लड़कियां पेंडेंट बनवाकर अपने गले में धारण करती है।
  • रत्न धारण (Amethyst Gemstone Benefits):ज्‍योतिष विज्ञान के अनुसार जामुनिया (Amethyst Gemstone Benefits) पहनने वाले व्‍यक्‍ति को यह रत्‍न उसके वजन के दसवें हिस्‍से के बराबर ही धारण करना चाहिए। और उन सभी बातों का ध्‍यान रखना चाहिए जो किसी भी रत्‍न को खरीदते समय होनी चाहिए जैसे – रत्‍न की चमक अच्‍छी होनी चाहिए, वो कहीं से टूटा या उसमें किसी प्रकार का स्‍क्रेच न हो, उसके साथ किसी भी प्रकार की छेड़-छाड़ न की गई हो जैसे कैमिकल वॉश और हीट ट्रीटमेंट, ज्‍योतिष के अनुसार इस रत्न (Amethyst Gemstone Benefits) को धारण करने से अवश्य ही लाभ मिलता है, यह रत्न अफ्रीका देश का रत्न हो तो सबसे अच्छा माना जाता है।जामुनिया उपरत्न (Amethyst Gemstone Benefits) को चांदी की अंगूठी या लॉकेट में धारण किया जाता है। इसे शनिवार के दिन शनि की होरा में पहनना चाहिए। इस पत्थर को सीधे हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण करना चाहिए। इससे पहनने से पहले सरसों के तेल में 4 घंटे डुबो कर शुद्ध करके अंगूठी या लॉकेट को नील कपड़े के ऊपर रख लेना चाहिए तत्पश्चात शनि के मंत्र “ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः” से अभिमंत्रित कर विधिवत संकल्पपूर्वक धुप, दीप नैवेद्य से पूजा अर्चना करके धारण करना चाहिए।
  • जामुनिया के गुण (Amethyst Gemstone Benefits):इसकी गुणवत्‍ता इसकी कटिंग, रंग और स्‍पष्‍टता पर निर्भर करती है। इसका रंग गाढ़ा बैंगनी होना चाहिए और रत्‍न के साथ किसी भी प्रकार की छेड़-छाड़ नहीं की गई हो। ज्‍योतिष रेमेडी के लिए धारण किए जाने वाले जामुनिया में विशेष ध्‍यान रखना चाहिए कि उसका रंग बिल्‍कुल भी हल्‍का न हुआ हो और वह कहीं से टूटा न हो।सेंथेटिक जामुनिया भी बाजार में बहुत अधिक मात्रा में पाए जाते है। इसके आकर्षक रंग के कारण इसे फैशन ज्‍वेलरी में बहुत ज्‍यादा इस्‍तेमाल किया जाता है। इसे किसी अच्छी विश्वसनीय संस्था से खरीदें जो इस रत्न को प्राण प्रतिष्ठित सिद्ध कर दें। जिससे आपको इस रत्न का अच्छा लाभ मिल सके। प्राण प्रतिष्ठित सिद्ध होने से यह रत्न सभी प्रकार की समस्या को अपने ऊपर ले लेता है।
Category:
Benefits of Amethyst Bracelet:
It helps to reduce impatience and balances high energy. It removes tensions, promote clarity and brings stability in the life of its wearer which further helps to keep one grounded. It is believed to protect with frequent travelling.
एमेथिस्ट ब्रेसलेट न केवल नीलम रत्न का उपरत्न है बल्कि यह शनि के शुभ प्रभाव को बढ़ाने में भी असरकारी होता है। माना जाता है कि जिस व्‍यक्‍ति ने इसे किसी भी रूप में धारण किया हो उस पर शनि देव की असीम कृपा बरसती है। एमेथिस्ट ब्रेसलेट न केवल नीलम रत्न का उपरत्न है बल्कि यह शनि के शुभ प्रभाव को बढ़ाने में भी असरकारी होता है।
Amethyst Stone Benefits: रत्न शास्त्र में बहुत से रत्नों के बारे में बताया गया है। ये रत्न बेहद ही प्रभावी होते हैं। कहा जाता है कि यदि रत्नों को सही तरीके के पहना जाए तो व्यक्ति की किस्मत चमक सकती है। इन्ही रत्नों में से एक है नीलम। ज्योतिष शास्त्र में नीलम रत्न को बेहद प्रभावशाली माना गया है। कहा जाता है कि यदि कुंडली में शनि दोष है तो व्यक्ति को नीलम धारण करना चाहिए। इससे शनि के बुरे प्रभाव काम होंगे। लेकिन बहुत अधिक कीमती होने की वजह से नीलम धारण कर पाना हर किसी के लिए संभव नहीं हो पता है। इसके अलावा ये रत्न हर किसी को शुभ प्रभाव नहीं देता है। ऐसे में नीलम का एक उपरत्न होता है जमुनिया, जिसे धारण करने की सलाह दी जाती है। जमुनिया रत्न धारण करना आपके लिए शुभ साबित हो सकता है। हालांकि इसे धारण करने के भी कुछ नियम होते हैं। इसे ज्योतिष की सलाह पर ही धारण करना चाहिए। तो चलिए आज जानते हैं किन लोगों के लिए जमुनिया रत्न लाभकारी होता है…

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Natural Amethyst Bracelet ( Certified )”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delivery Details 

We Will Dispatch Your Order in 2-3 Business days.
Delivery Time is Depend On Your Location. In india We Will Delivery Your Product in 4-10 Days.
If Your Location In Out Of India So Delivery Depend On Your Location, Area, Shipment Policy and Country Policy.
If you have any Enquiry Consult Us.